विजेट आपके ब्लॉग पर

Friday, August 11, 2006

मगही काव्य

मगही कविता संकलन

001. सत्य शतक - जॉन क्रिश्चियन
002. वदना - श्याम प्यारी कुँअर
003. गीता-गीत (बिरहा) - राम प्रसाद सिंह पुण्डरीक

004. गीता-गीत (सोहर) - राम प्रसाद सिंह पुण्डरीक
005. जगरना - राम सिंहासन सिंह 'विद्यार्थी'
006. इंजोर - योगेश्वर प्रसाद सिंह 'योगेश'

007. तुलसीदास - योगेश्वर प्रसाद सिंह 'योगेश'
008. मगही सनेस - कपिलदेव त्रिवेदी
009. मगही मुकुट - कपिलदेव त्रिवेदी

010. मगही लोकगीत सेंगरन - सं० डॉ० श्रीकान्त शास्त्री एवं डॉ० रामनन्दन
011. मगही बाल गीत - सं० मथुरा प्रसाद सिंह 'सरस' आउ रामेश्वर महतो
012. लोहचुट्टी - योगेश्वर प्रसाद सिंह 'योगेश'

013. भरथरी शतक - महादेव साहू स्वर्णकार
014. शृंगार शतक - महादेव साहू स्वर्णकार
015. नीति शतक - महादेव साहू स्वर्णकार

016. वैराग्य शतक - महादेव साहू स्वर्णकार
017. मगही कुंडलियाँ - राहुल सांकृत्यायन
018. दोहा कोश - सं० राहुल सांकृत्यायन

019. बासन्ती - राम विलास 'रजकण'
020. रजनीगंधा - राम विलास 'रजकण'
021. पनसोखा - राम विलास 'रजकण'

022. मगही संस्कार गीत - सं० विश्वनाथ प्रसाद
023. लहरा - बाबूलाल मधुकर
024. अंगुरी के दाग - बाबूलाल मधुकर

025. तरस उठल जियरा - महेन्द्र प्रसाद सुधांशु
026. संझउती - गोविन्द 'प्यासा'
027. मगही बिहारी सतसई - जनकनन्दन सिंह 'जनक'

028. मगही कुंडलियाँ - महावीर दूबे
029. भोर - सं० संत राम नगीना सिंह 'मगहिया'
030. हलफा - संत राम नगीना सिंह 'मगहिया'

031. मगहिया गीत - संत राम नगीना सिंह 'मगहिया'
032. धरती फट गेलइ हे - स्वर्ण किरण
033. धरती के पाती तथागत के नाम - स्वर्ण किरण

034. मुआर - स्वर्ण किरण
035. झरोखा - सं० राम प्रसाद सिंह
036. परस पल्लव - डॉ० राम प्रसाद सिंह

037. मुस्कान - राम प्रसाद सिंह, राम नरेश प्रसाद वर्मा आउ त्रिवेणी शर्मा 'सुधाकर'
038. अप्पन गीत - श्रीनन्दन शास्त्री
039. हिलकोरा - सतीश कुमार मिश्र

040. फटल बाँस - सतीश कुमार मिश्र
041. टुसा - सतीश कुमार मिश्र
042. गीत अदमी के - रामदास आर्य उर्फ घमंडी राम

043. धरती के गीत - रामदास आर्य उर्फ घमंडी राम
044. तीत मीठ गजल - दीनबन्धु
045. इंगोरा - अनिल कुमार विभाकर

046. लुत्ती - राजकुमार प्रसाद
047. मगही तरंग - त्रिवेणी शर्मा 'सुधाकर'
048. मगही लहर - त्रिवेणी शर्मा 'सुधाकर'

049. मगही भरथरी तिनसइया - रामाधार सिंह 'आधार'
050. मगही कवितावली - त्रिवेणी शर्मा 'सुधाकर'
051. ढरकित लोर - रजन कुमार मिश्र

052. मगही संदेश - सत्यनारायण दास
053. मगही गीतांजलि - चन्द्रशेखर प्रसाद सिन्हा
054. हाथ में लेके रुमाल - चन्द्रशेखर प्रसाद सिन्हा

055. ढिबरी - राजेन्द्र पाण्डेय
056. दमाही में जोतल अदमी - हरीन्द्र विद्यार्थी
057. भुरुकवा उग गेल - रास बिहारी पाण्डेय

058. निहोरा - सुरेश दूबे 'सरस'
059. बेलपत्तर - रामकृष्ण मिश्र
060. बघवा में भेलइ बिहान - राम विनय शर्मा 'विनय'

061. मोतिया के माला - मृदुल
062. लुआठी - राजेन्द्र सिंह
063. बड़हिया गोलीकांड - मथुरा प्रसाद 'नवीन'

064. उगेन - सुरेश दत्त मिश्र
065. सुलगइत साँस - जयराम देवसपुरी
066. जिनकर चरनिया से भेलइ इंजोर - महेन्द्र प्रसाद

067. गजल हे नाम - मृत्युंजय मिश्र करुणेश
068. पनघट - जयनाथ कवि
069. मगही महक – दीनबन्धु

070. पपिहरा - महेन्द्र प्रसाद देहाती
071. बाँचि ले मोर पतिया - कृष्णदेव प्रसाद
072. अधरतिया के बँसुरी - कुमारी राधा

073. दुम्भी - शिव प्रसाद लोहानी
074. झांझ - अनिल विभाकर
075. भक्ति रसामृत - दशई सिंह

076. कविता कली - अलखदेव प्रसाद 'अचल'
077. देश के नाम एगो चिट्ठी - स्वर्ण किरण
078. असगनी - कृष्ण मोहन प्यारे

079. गौतम के गीत - अरुण कुमार गौतम
080. उकटा-पुराण - अवधेश कुमार सिन्हा
081. साठी - सं० दिलीप कुमार आउ सुखित वर्मा

082. चोट - गौरी शंकर सिंह
083. घनचोट - राम गोपाल पाण्डेय
084. भँवर - विनीत कुमार मिश्र 'अकेला'

085. मत जा तू परदेस - सुभाष चन्द्र 'किंकर'
086. भौंरा गीत - जयनाथ कवि
087. अभिनन्दन दल - सं० दिलीप कुमार

088. मगही माधुरी - रामवृक्ष महाराज
089. मोरहर के पार - हरीन्द्र विद्यार्थी
090. फुटहा - नन्दकिशोर सिंह 'विद्यार्थी'

091. मुँह देखाई - अमर अलंकृत
092. फुहार - सं० राजदेव प्रसाद
093. मिलिन्द गीत - चतुरानन्द मिश्र 'चतुरा'

094. दुम्भी - सतीश कुमार मिश्र
095. पँचबरती - परमेश्वरी
096. मगही शतक – परमेश्वरी

097. मगह के फूल - शिव प्रसाद लोहानी
098. लोहानी सतसई - शिव प्रसाद लोहानी
099. बाँसुरी बजते रहल - अरुण कुमार सिन्हा

100. मगही लोकगीत के बृहत् संग्रह - सं० राम प्रसाद सिंह आउ लालमनी कुमारी
101. दिल के घाव - घमंडी राम
102. दूज के चान - राम विलास 'रजकण'

103. मगही गीत कुंज - राम विलास शर्मा 'अथर्व'
104. मगध गुर्रा रहल - हरीन्द्र विद्यार्थी
105. फल्गु से गंगा - हरीन्द्र विद्यार्थी

106. असरा के डोर - सुमन्त
107. बहुरुपिया - परमेश्वरी
108. तितकी - सं० राजीव

109. परान के फोंफी - वीरेन्द्र कुमार भारद्वाज
110. सोनभदर के तीर - सुभाष चन्द्र 'किंकर'
111. धरती के बोल - सं० मणिशंकर प्रसाद

112. माथा घूमऽ हे - स्वर्ण किरण
113. कहवाँ भेल अबेर - स्वर्ण किरण
114. जमाना बेदरद हे - स्वर्ण किरण

115. अतीत गाथा - सं० बृजमोहन पाण्डेय 'नलिन' आउ राम नरेश प्रसाद वर्मा
116. घिचपिच - अछूत भानु
117. स्मृति संचय (राम नरेश पाठक) - सं० कृष्ण मोहन प्यारे

118. मुग्धांजलि - अमर अलंकृत
119. तीरथाटन - अमर अलंकृत
120. बुढ़ारी आउ दुख - अमर अलंकृत

121. हे मानव तू सावधान - अमर अलंकृत
122. सौगात - श्रवण कुमार 'मधुर'
123. लड़ाई जारी हे - स्वर्ण किरण

124. मकई के लावा - कृष्ण प्रकाश 'सुधांशु'

[स्रोतः 'अलका मागधी', सितम्बर २००६, अंक-९, पृ० १५-१६]

2 comments:

मृत्युंजय कुमार said...

narayan jee,Aap Accha kamkar rahe hain. kucch kitabo ko bhi blog par dale to accha rahega.

magahi said...

मृत्युंजय कुमार जी,
आपने इस मगही जालस्थान पर भेंट देकर अपना सुझाव दिया, इसके लिए धन्यवाद ।
किताबों को जालस्थान पर डालने के पहले कॉपीराइट का भी ध्यान रखना पड़ता है । ऐसे डॉ॰ राम प्रसाद सिंह जी ने अपने सभी प्रकाशनों को जाल पर डालने की अनुमति दे रखी है । दूसरी बात यह है कि यह सब काम मैं अकेला ही कर रहा हूँ । जब भी फुरसत मिलती है, यथासाध्य कुछ इस पर डाल देता हूँ ।
--- नारायण प्रसाद